युवा सेवाओं और खेल विभाग

युवा सेवाओं और खेल विभाग को 1 9 82.83 के दौरान राष्ट्रीय पुनर्गठन के कार्य में युवाओं को शामिल करने और सामाजिक बुराइयों के उन्मूलन की दिशा में अपनी ऊर्जा का उपयोग करने के उद्देश्य से बनाया गया था।

पता और संपर्क नंबर :-

जिला युवा सेवा एवं खेल अधिकारी
जिला किन्नौर स्थित रिकांगपिओ।

युवा सेवा एवं खेल विभाग द्वारा चलाये जा रहे विभिन्न योजनाओं/गतिविधियों का विवरण

चलते -फिरते खेल प्रशिक्षण शिविरः-

विभाग द्वारा सभी खेलों का दस दिवसीय चलते- फिरते खेल प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाता है। इस दस दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के दौरान खिलाडियों को खेल प्रशिक्षण के अलावा मु0 20/- प्रति दर से जलपान करवाया जाता है यह प्रशिक्षण शिविर माह अप्रैल से जुलाई तक गैर प्रतियोगिताओं से पहले आयोजित किया जाता है।

 नियमित खेल प्रशिक्षण शिविरः-

विभाग द्वारा दस दिवसीय नियमित खेल प्रशिक्षण शिविर का आयोजन जिलास्तरीय/राज्यस्तरीय/राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिताओं से पूर्व किया जाता है। इस प्रशिक्षण शिविर में खिलाडियों को मु0 120/- रूपये के दैनिक भत्ता सहित प्रशिक्षकों द्वारा उच्च स्तरीय मुफ्त प्रशिक्षण प्रदान किया जाता हैं ताकि खिलाडी प्रतियोगिताओं में अच्छा प्रदर्शन कर सके।

खण्ड/जिलास्तरीय युवा उत्सवः-

विभाग द्वारा खण्ड स्तर/जिला स्तर/ राज्यस्तर पर युवा उत्सवों का आयोजन किया जाता है जिसमें लोक नृत्य, समूह गान, पारम्परिक वाध्य यन्त्र, नाटक व शास्त्रीय गायन, कत्थक, हारमोनियम, तबला व बांसुरी वादन प्रतियोगितायें करवाई जाती है ताकि लुप्त होती सांस्कृति एवं परम्पराओं को बचाया जा सके।

टैकिंग अभियानः-

विभाग द्वारा युवाओं हेतु समय-2 पर टैकिंग अभियान का आयोजन किया जाता है जिससे युवाओं को अभियान के तहत एक जुट होकर बाधाओं को पार करने की प्रेरणा मिलती है।

जिला/खण्ड स्तर पर खेल प्रशिक्षण केन्द्रः-

विभाग द्वारा जिला/खण्ड स्तर पर विभागिय प्रशिक्षकों के माध्यम से नियमित खेल प्रशिक्षण शिविर चलाये जा रहे हैं। इन प्रशिक्षण केंद्रों में विभाग द्वारा मुफ्त प्रशिक्षण शिविर के अलावा पूरे वर्ष खेल सामान व किट उपलबध करवाये जाते हैं खेल प्रशिक्षण केन्द्र में प्रशिक्षकों की उपलब्धा के अनुसार पूरे वर्ष सुबह शाम खिलाडियों को प्रशिक्षण दिया जाता है।

कार्य शिविरः-

विभाग द्वारा समय-समय पर युवा कार्य शिविरों का आयोजन किया जाता है जिसके अन्तर्गत गांव के रास्तों के मुरम्मत, पानी की बावडियों की सफाई, पौधा रोपन व गलियों की सफाई का कार्य युवाओं के माध्यम से किया जाता है।

खेल प्रतियोगिताओं का आयोजनः-

विभाग द्वारा समय-समय पर विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है इसमें मुख्यतः खण्ड/जिला महिला खेल प्रतियोगितायें व भारत सरकार द्वारा प्रायोजित खेल प्रतियोगितायें खेलो इंडिया खेलो प्रमुख है। यह प्रतियोगिताऐं खण्ड स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक आयोजित किए जाते हैं। इन प्रतियोगिताओं के आयोजन के पीछे ग्रामीण क्षेत्रों में छुपी हुई प्रतिभाओं को तलाश कर देश के लिए पदक प्राप्त करना हैं।

नोडल कल्ब योजनाः-

विभाग द्वारा नोडल कल्ब योजना चलाई जा रही है जिसके अनतर्गत प्रत्येक खण्ड से एक युवक मण्डल को उनके गतिविधियों के आधार पर दो वर्ष हेतु चुना जाता है। चयनित नोडल कल्बों को हर वर्ष मु0 35000/- (रूपये पैंतीस हजार मात्र) के खेलों/सांस्कृतिक वाध्य यत्रों के सामान उपलब्ध करवाया जाता है। प्रत्येक खण्ड से एक-एक युवा स्वयं सेवी को भी चुना जाता है ताकि वह खण्ड स्तर अथवा जिला सतर पर आयोजनों में सहायक हों। इन युवा स्वंय सेवियों को हर माह मु0 3000/-(रूपये तीन हजार मात्र) प्रोत्साहन भत्ते के रूप में दिया जाता है इस के अलावा कार्यालय कम्पयूटर संचालन हेतु एक अतिरिक्त युवा स्वंय सेवी का चयन किया जाता है इस सेवा हेतु मु0 6000/- (रूपये छहः हजार मात्र) की राशी प्रोत्साहन भत्ते के रूप में दिया जाता है।

युवाओं को कम्पयूटर में प्रशिक्षणः-

विभाग द्वारा अति निर्धन परिवारों के युवाओं को कम्पयूटर में एक वर्ष का प्रशिक्षण दिया जाता है इसके अन्तर्गत इनके पंजीकरण शूल्क के अलावा हर महीना मु0 1500/- (रूपये पन्नद्रह सौ मात्र) प्रोत्साहन भत्ते के रूप में व मु0 1000/- (रूपये एक हजार मात्र) प्रशिक्षण शुल्क के रूप में दिया जाता है।

युवा दिवस/सप्ताह का आयोजनः-

विभाग द्वारा स्वामीविवेकानन्द जी के जन्म दिवस को युवा दिवस व सप्ताह के रूप में हर वर्ष 12 जनवरी से 19 जनवरी तक खण्ड स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से आयोजित किया जाता है।

लम्बी व मध्यम दूरी की दौडों का आयोजनः-

विभाग द्वारा 16 वर्ष व 19 वर्ष से कम आयु वर्ग में लडके व लडकियों के 5000 मीटर व 3000 मीटर स्प्रर्धा की दौडों का आयोजन राज्य स्तर/जिला स्तर पर किया जाता है। विजेता खिलाडियों को नकद पुरूस्कार व ईनाम से पुरूस्कृत किया जाता है।

स्टेडियम/खेल मैदानों का निर्माणः-

विभाग द्वारा हर जिले के मुख्यालय, खण्ड स्तर एवं गांव में आऊट डोर स्टेडियम, इन्डोर स्टेडियमव व खेल मैदानों का व्यापक तौर से निर्माण किया जा रहा है ताकि सभी खिलाडियों को अन्तराष्ट्रीय स्तर की आधुनिक सुविधायें प्रदान की जा सके तथा अन्तराष्ट्रीय स्तर पर देश के लिए मेडल जीता जा सके।